GANDHI JAYANTI
1-Oct- 2018
दिनांक : 01.10.2018
राष्ट्र के गौरव राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व श्री लालबहादुर शास्त्री की जयंती मिठ्ठी गोबिन्दराम पब्लिक स्कूल में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। 
दिनांक 01 अक्टूबर 2018ः  बह्मलीन संत शिरोमणि हिरदाराम साहिब जी की अनुकंपा एवं संस्थान के प्रेरणापुरूष परम श्रद्धेय सिद्ध भाऊ जी के पावन सानिध्य एवं मार्गदर्शन में शहीद हेमू कालानी एज्युकेशनल सोसायटी द्वारा संचालित मिठ्ठी गोबिन्दराम पब्लिक स्कूल में लालबहादुर शास्त्री जी व महात्मा गांधीजी का जन्म दिवस मनाया गया। 
कार्यक्रम का शुभारंभ माँ सरस्वती, माँ भारती, ब्रहमलीन संत हिरदाराम साहिब जी एवं लालबहादुर शस्त्रीजी व महात्मा गांधीजी के छायाचित्रों पर माल्यार्पण, दीप प्रज्ज्वलन व रघुपति राघव राजाराम भजन के साथ किया गया। 
इस कार्यक्रम का मूल उद्देश्य विद्यार्थियों में भारत के अतुलनीय, निष्ठावान, आदर्शमयी व्यक्तित्व, सत्य, अहिंसा एवं स्वधीनता के दैदीप्यमान नक्षत्र श्री लाल बहादुर शास्त्री व राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के व्यक्तित्व, जीवन आर्दश व सिद्धांतों से परिचित कराना रहा।

संस्था सचिव श्री ए.सी. साधवानी जी ने विद्यालय परिवार को ;150जी ठपतजी ब्मसमइतंजपवद वि ड।भ्।ज्।ड।द्ध इस 150वीं शुभ जयंती की शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि जीवन का प्रथम संस्कार माता-पिता की आज्ञा का अनुपालन करना है। उन्होंने बताया कि जीवन को सार्थक बनाने का प्रबल माध्यम है - चिंतन व साहित्य से स्वयं को जोड़ना। इसके लिए छात्र देश की महान विभूतियों लालबहादुर शास्त्री जी, महात्मा गांधी जी की आत्मकथाएँ पढ़कर प्रेरणा लें। उन्होंने कहा कि सत्य की कोई परिभाषा नहीं होती। इसे आत्मिक रूप से महसूस किया जाता है। सत्य आंतरिक शांति, खुशी और आनंद का पर्याय है। भावी जीवन को सफल बनाने के लिए वर्तमान में कठिन परिश्रम व अध्ययन के प्रति गंभीर बनें।

विद्यालय प्राचार्य डॉ. अजयकांत शर्मा जी ने अपने उद्बोधन में कहा कि हम समाज को जैसा देखना चाहते हैं वैसे स्वयं बनें। मन, वचन, कर्म से स्वयं को निर्मल बनाएं तभी हम समजोपयोगी व राष्ट्रनिधि बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि सत्य द्वारा हम समस्त बाधाओं पर विजयी प्राप्त कर सकते है ंक्योंकि सत्य स्वीकार करने के बाद ही हम अपने जीवन में सुधार की अपेक्षा कर सकते है। जीवन में ‘सादा जीवन-उच्च विचार’ तथा वचनबद्धता, मन की निर्मलता ही जीवन की सफलता व चरित्र को सुनियोजित करती है।

विद्यालय की उपप्राचार्या श्रीमती रीटा गुरबानी ने छात्रों को पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री व राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन से समयबद्धता, नियमितता, कार्य के प्रति सत्यनिष्ठता एवं पूर्ण जागरूकता के साथ अध्ययन करने की प्रेरणा लेने हेतु अभिप्रेरित किया।

विद्यालय के छात्र मोहित राजानी, कृष्णा सितलानी, पुनीत लालवानी, चिराग भागवानी, आदित्य पेसवानी एवं आदित्य पाण्डे ने कविता, भजन व भाषण के माध्यम अपने विचार प्रस्तुत किए।

इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से श्री ए.सी. साधवानी (सचिव), डॉ. अजयकांत शर्मा (प्राचार्य), श्रीमती रीटा गुरबानी (उपप्राचार्य) श्री गिरीश हेमराजानी, श्री देवेन्द्र शर्मा, श्रीमती मिनी नायर (कॉर्डिनेटर),  संगीत विभाग के श्रीमती चारू केशी तिवारी, सुश्री योग्यता शर्मा, समस्त शिक्षक-शिक्षिकाएँ एवं छात्र उपस्थित रहे।


Email
Message
Copyright © 2018 Mithi Gobindram Public School. All rights reserved.