नवीन छात्र परिषद गठन एवं शपथ ग्रहण समारोह
1-Aug- 2018
मिठ्ठी गोबिंदराम पब्लिक स्कूल में 
नवीन छात्र परिषद गठन एवं शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन
दिनांक 30 जुलाई 2018 बह्मलीन संत शिरोमणि हिरदाराम साहिब जी की अनुकंपा एवं संस्थान के प्रेरणापुरूष परम श्रद्धेय सिद्ध भाऊ जी के पावन सानिध्य तथा मार्गदर्शन में शहीद हेमू कालानी एज्युकेशनल सोसायटी द्वारा संचालित मिठ्ठी गोबिन्दराम पब्लिक स्कूल के नवीन सत्र 2018-19 के लिए नवगठित छात्र परिषद का शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया गया।
इस कार्यक्रम का मूल उद्देश्य विद्यार्थियों में नेतृत्व दक्षता, दायित्वबोध, आत्मसक्षमता की भावना का संचार एवं विकास करना रहा। 
कार्यक्रम का शुभारंभ माँ सरस्वती, माँ भारती एवं ब्रहमलीन संत हिरदाराम साहिब जी के चित्रों पर माल्यार्पण, दीप प्रज्ज्वलन तथा गणेश वंदना के साथ किया गया।
इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से संस्थान प्रमुख, मार्गप्रदर्शक परम श्रद्धेय सिद्ध भाऊजी, श्री हीरो ज्ञानचंदानी (उपाध्यक्ष), श्री ए.सी. साधवानी (सचिव), श्री के.एल. रामनानी (सह सचिव), डाॅ. अजयकांत शर्मा (प्राचार्य), श्रीमती रीटा गुरबानी (उपप्राचार्य) श्री गिरीश हेमराजानी, श्री देवेन्द्र शर्मा (काॅर्डिनेटर) शिक्षक-शिक्षिकाएँ एवं छात्र उपस्थित रहे।
संस्था के प्रेरणापुरूष मार्गदर्शक परम श्रद्धेय सिद्ध भाऊ जी ने नवनिर्वाचित विद्यार्थी परिषद् के चयनित सदस्यों को आत्मीय शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि ‘लघुता से प्रभुता’ की प्राप्ति होती है। विनम्रता जीवन का प्रथम संस्कार है। यह कृतज्ञता का भाव आपको सफलता के साथ आत्मसंतुष्टि प्रदान करता है। इसे अपने व्यावहारिक जीवन में अवश्य स्थान दें। उन्होंने सत्साहित्य एवं समाचार पत्र-पत्रिकाओं के नियमित अध्ययन करने पर बल दिया ताकि छात्रों में स्वाध्ययन, कठिन परिश्रम तथा स्वचिंतन की प्रवृत्ति बढ़ सके एवं व्यावसायिक प्रतिस्पर्धा में सफलता सरलता से प्राप्त हो सके।
अध्ययन, स्वास्थ्य और अपने चरित्र के प्रति गंभीर एवं सर्तक रहें। यह आपके सुखद भविष्य का मूल है। नेतृत्व का आशय सही निर्णय क्षमता, सही दिशा एवं सही आदर्शभाव स्थापित करना है। उन्होंने छात्रों को अभिप्रेरित किया कि वे विद्यालय में नियमित रहकर अध्ययन के प्रति गंभीर रहें, आत्मचिंतन, सकारात्मक दृष्टिकोण, कृतज्ञता, अपनी सक्षमताओं का आंकलन, चुनौतियों के लिए सदैव तैयार रहें। यही भाव हमारी आत्मानिर्भरता को सबलता प्रदान करता है। अपने गुरुओं एवं माता-पिता के प्रति सदैव श्रद्धावान रहें। इसी के साथ उन्होंने कहा कि विद्यार्थी जीवन - शक्ति, सामथ्र्य और सबलता का आधार है। इस अवस्था का सार्थक प्रयोग कर अपने उज्ज्वल भविष्य को सँवारें।
श्री ए.सी. साधवानी जी (संस्था सचिव) ने नव गठित छात्र परिषद के सदस्यों को आत्मिक बधाइयाँ प्रदान की। उन्होंने कहा कि अनुशासन लक्ष्य प्राप्ति का माध्यम है। अनुशासनबद्धता आपके जीवन को उपयोगी एवं प्रभावशीलता प्रदान करती है। यही आपकी अकादमिक उत्कृष्टता, नियमितता एवं आत्मविश्वास को बल प्रदान करती है। उन्होंने छात्रों से अपील की कि वे अपने कर्तव्यों के प्रति सजग रहकर उत्तरदायित्वों की गरिमा एवं मर्यादा को बनाए रखंे तथा विनम्रता एवं संस्कारों को अपने व्यावहारिक जीवन में स्थान अवश्य दें। वर्तमान परिप्रेक्ष्य मंे अंग्रेजी भाषा प्रयोग पर नियंत्रण बनाएँ। इसी के साथ स्वच्छता, जल संरक्षण तथा अन्न के प्रति सम्मान भाव बनाएँ - इसे शादी-समारोहों आदि में व्यर्थ न फंेकें।
श्री के.एल. रामनानी जी (संस्था सहसचिव) ने नवचयनित छात्र परिषद सदस्यों को हार्दिक-हार्दिक शुभकामनाएँ प्रदान की। तथा नवगठित परिषद को उनके पद एवं दायित्वों की गरिमामय शपथ दिलाई। उन्होंने कहा कि शपथ वास्तव में स्व को वचनबद्ध एवं प्रतिबद्ध करना है। दायित्व पूर्णता का मूलाधार नैतिक मूल्य हैं। विनम्रता, स्वास्थ्य, आंतरिक शक्तियों के प्रति सजगता, विपरीत परिस्थितियों में धैर्य, ईश्वर के प्रति श्रद्धा भाव एवं विवेक को सदैव जागृत रखें। अतः अपनी जिम्मेदारियों का अनुपालन निष्ठापूर्वक करते हुए अपनी श्रेष्ठता सिद्ध करें।
विद्यालय प्राचार्य डाॅ. अजयकांत शर्मा जी ने नवगठित विद्यार्थी परिषद के चयनित सदस्यों को हार्दिक शुभकामनाएँ प्रदान करते हुए कहा कि जिम्मेदारियाँ वास्तव में हमारी आंतरिक सक्षमताओं और योग्यताआंे का सकारात्मक परिणाम हैं। हमारे व्यक्तित्व को आकर्षक और परिमार्जित करती हैं - चुनौतियाँ। इन्हें सदैव स्वीकारें ताकि आपका व्यक्तित्व प्रभावशाली बना रहे। उन्होंने छात्रों से अपील की कि वे समन्वित होकर एकनिष्ठता के साथ अपने कर्तव्यों की पूर्णता प्रदान करें।
इस अवसर पर विद्यालय केप्टन आदित्य कपूर ने विद्यालय प्रबंधन के प्रति आभार व्यक्त किया एवं अपनी भावी कार्य योजना का परिचय देते हुए कर्तव्य निष्ठा की प्रतिबद्धता व्यक्त की।
नवनिर्वाचित विद्यार्थी परिषद सदस्य - आदित्य कपूर (विद्यालय केप्टन), पवन रायचंदानी (विद्यालय वाइस केप्टन), आयुष तलरेजा (प्रिफेक्ट प्लानिंग एंड काॅर्डिनेशन), विनय रंगवानी (वास प्रिफेक्ट प्लानिंग एंड काॅर्डिनेशन), चिराग नागपाल (प्रिफेक्ट स्पोर्ट), पलश तीर्थानी (वाइस प्रिफेक्ट स्पोर्ट), कुशल गोवानी (प्रिफेक्ट कलचरल), देव सचदेव (वाइस प्रिफेक्ट कलचरल), पुनीत लालवानी (प्रिफेक्ट लिटरेरी), मृत्युंजय मिनारिया (वाइस प्रिफेक्ट लिटरेरी), अभिषेक रायसिंघानी (प्रिफेक्ट साइंस एंड टेक्नोलाॅजी), कुनाल नागर (वाइस प्रिफेक्ट साइंस एंड टेक्नोलाॅजी), अक्षत नेमा (प्रिफेक्ट काॅर्मस), चिराग भागवानी (वास प्रिफेक्ट काॅर्मस), रीतेश दादलानी (प्रिफेक्ट डिसिप्लेन), उदय हरलानी (वाइस प्रिफेक्ट डिसिप्लेन), यश माखीजा (प्रमुख साधु वासवानी सदन), तनिष्क चंगलानी (वाइस प्रमुख साधु वासवानी सदन), सौरभ लालवानी (प्रमुख स्वामी दयानंद सदन), श्रेय पांडे (वाइस प्रमुख स्वामी दयानंद सदन), संयम जैन (प्रमुख डाॅ. राधाकृष्णन सदन), अनिमेष जैन (वाइस, डाॅ. राधाकृष्णन सदन), आदर्श सिंह (प्रमुख साधु हीरानंद सदन), प्रेमांश भारद्वाज (वाइस प्रमुख साधु हीरानंद सदन), हर्षित जोधानी, पीयूष गुलानी, आयुष जैसवाल (एक्जुकेटिव दस्य अनुशासन) आदित्य के. साहू, अलख मिश्रा, शुभंाकर मिश्रा, श्लोक शर्मा, अनुज शर्मा (एक्जूकेटिव स्पोर्ट) चयनित रहे।
विदयालय वाइस केप्टन पवन रायचंदानी द्वारा कार्यक्रम में प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से सहयोगी रहे प्रत्येक व्यक्ति का आभार व्यक्त किया गया।
कार्यक्रम समन्वय श्री मुकेश तुरिया, पी.जी.टी. स्पोर्ट एवं श्रीमती दिलावेज खान, पी.जी.टी.-अंग्रेजी तथा हाउस इंचार्ज - शिक्षक-शिक्षिकाओं द्वारा किया गया।
कार्यक्रम का कुशल संचालन विद्यालय शिक्षिका श्रीमती महिमा परहाग तथा श्रीमती सुचित्रा सेन द्वारा किया गया।


Email
Message
Copyright © 2018 Mithi Gobindram Public School. All rights reserved.